Popular Posts

Pages

Powered by Blogger.

Followers

Search

Sunset in Delhi - दिल्ली में डूबते सूरज के नज़ारे

Few Clics On the Go - सफ़र में चलते-चलते यूँ ही कुछ क्लिक्स



Near Yamuna Bank, ITO, Delhi.
  


Near Yamuna Bank, ITO, Delhi.
 


Behind Raj Ghat, Delhi.
 


Opposite Gita Colony, Delhi.
 

< >

8 comments:

  1. बेहतरीन चित्र!
    दिल्ली के ऐसे ही कुछ चित्र हमारे पास भी हैं।

    ReplyDelete
  2. बेहतरीन चित्र!
    bhauth aache

    ReplyDelete
  3. कभी कभी दिल्ली कितनी अलग लगती है ...

    ReplyDelete
  4. ढलता सूरज,उडता धुआँ क्या क्या कहता है????

    घर आ जा घर आजा, शायद ये भी कहता है!!!!
    बहोत खूबसुरत नज़ारों को समेटा है आपने अपने केमेरे में। बधाई।

    ReplyDelete
  5. क्या आप ब्लॉगप्रहरी के नये स्वरूप से परिचित है.हिंदी ब्लॉगजगत से सेवार्थ हमने ब्लॉगप्रहरी के रूप में एक बेमिशाल एग्रीगेटर आपके सामने रखा है. यह एग्रीगेटर अपने पूर्वजों और वर्तमान में सक्रिय सभी साथी एग्रीगेटरों से कई गुणा सुविधाजनक और आकर्षक है. उदाहरण स्वरूप आप यह परिचय पन्ना देखें उदहारण हेतू पन्ना . क्या आपको इससे बेहतर परिचय पन्ना कोई अन्य सेवा देती है. शायद नहीं ! यह हम हिंदी ब्लोगरों के लिए गर्व की बात है.

    इसे आप हिंदी ब्लॉगर को केंद्र में रखकर बनाया गया एक संपूर्ण एग्रीगेटर कह सकते हैं. मात्र एग्रीगेटर ही नहीं, यह आपके फेसबुक और ट्वीटर की चुनिन्दा सेवाओं को भी समेटे हुए है. हमारा मकसद इसे .सर्वगुण संपन्न बनाना था. और सबसे अहम बात की आप यहाँ मित्र बनाने, चैट करने, ग्रुप निर्माण करने, आकर्षक प्रोफाइल पेज ( जो दावे के साथ, अंतरजाल पर आपके लिए सबसे आकर्षक और सुविधाजनक प्रोफाइल पन्ना है), प्राइवेट चैट, फौलोवर बनाने-बनने, पसंद-नापसंद..के अलावा अपने फेसबुक के खाते हो ब्लॉगप्रहरी से ही अपडेट करने की आश्चर्यजनक सुविधाएं पाते हैं.

    सबसे अहम बात , कि यह पूर्ण लोकतान्त्रिक तरीके से कार्य करता है, जहाँ विशिष्ट कोई भी नहीं. :)

    कृपया पधारें.. और एक एग्रीगेटर. माइक्रो ब्लॉग जैसे ट्वीटर और सोशल नेट्वर्क..सभी की सुविधा एक जगह प्राप्त करें .. हिंदी ब्लॉग्गिंग को पुनः लयबद्ध करें.
    अभी अपना ब्लॉग शामिल करें और साथ-साथ सोशल नेट्वर्किंग का भी आनंद लें
    टीम ब्लॉगप्रहरी

    ReplyDelete
  6. कमाल की तस्वीरें हैं.. सुन्दर..

    ऐसा ही शौक कुछ अपना भी है

    ReplyDelete